टीम पहल : अभियान चलाकर बेसिक शिक्षकों ने अब तक की दस लाख रुपये की मदद | #NayaSaberaNetwork

जौनपुर। किसी दुर्घटना अथवा अनहोनी के शिकार होकर दिवंगत होने वाले शिक्षक साथियों के पीड़ित परिवारों को आर्थिक मदद करने के उद्देश्य से बेसिक शिक्षकों ने टीम पहल नामक मंच बनाकर 26 जनवरी 2021 को शुरुआत की और अपना पहला सहयोग जनपद लखनऊ के शिक्षक स्व0 शिवानंद राय की पत्नी मुन्नी राय को लगभग पौने पाँच लाख रुपये का किया था। इसी क्रम में टीम पहल ने अपना मदद अभियान जारी रखते हुए अपने शिक्षक साथी स्व0 विजयेंद्र कुमार की पत्नी उर्मिला देवी को मदद करते हुए अब तक कुल मदद का आँकड़ा लगभग दस लाख रुपये पहुंचा दिया है। स्व0 विजयेंद्र कुमार बहराइच जनपद के महसी विकास खण्ड में सहायक अध्यापक के पद पर कार्यरत थे और ग्राम शुधनीपुर, मड़ियाहूं, जनपद जौनपुर के मूल निवासी थे। मार्ग दुर्घटना में घायल होने के बाद इनका इलाज स्थानीय हॉस्पिटल में चल रहा था किंतु दुर्भाग्य से दिनाँक 20 अप्रैल 2021 को इनकी मृत्यु हो गई। चूँकि स्व0 विजयेंद्र जी टीम पहल पर रजिस्टर्ड मेम्बर थे इसलिए टीम पहल के आह्वान पर टीम से जुड़े प्रदेश भर के शिक्षकों ने पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता शुरू की और स्व0 विजयेंद्र जी की नॉमिनी उर्मिला देवी के अकाउंट में 100-100₹ का सहयोग करते हुए अब तक टीम पहल का कुल मदद आँकड़ा दस लाख के आसपास पहुंचा दिया। टीम पहल जौनपुर की पदाधिकारी तथा सिरकोनी ब्लाक में कार्यरत शिक्षिका, डॉ0 उषा सिंह ने बताया कि टीम पहल से जुड़े किसी भी शिक्षक के साथ कोई अनहोनी अथवा दुर्घटना होने की दशा में टीम पहल से जुड़े सभी शिक्षक मात्र 100-100₹ का सहयोग पीड़ित परिवार को करते हैं जो किसी भी शिक्षक सदस्य के लिए एक छोटी राशि है लेकिन प्रदेश भर के शिक्षक साथियों के सहयोग से पीड़ित परिवार को इसके द्वारा काफी मदद सम्भव हो जाती है। सुजानगंज ब्लाक प्रभारी श्रीमती नीलम सिंह और श्रीमती सुनीता यादव ने भी टीम पहल को एक मानवीयता भरा कदम बताते हुए कहा कि अपने दिवंगत शिक्षक साथी के पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद करने का यह निःशुल्क और पारदर्शी मंच है जिसमें तकनीकि आधारित सिस्टम बनाया गया है जिसके कारण सहयोग सीधे नॉमनी के अकाउंट में पहुंच जाता है और वेबसाइट पर भी इसकी सूची उपलब्ध रहतीं है। टीम पहल जौनपुर के जिला प्रभारी श्री राजकुमार सिंह ने कहा कि कोविड-19 महामारी के बीच कई बेसिक शिक्षक साथियों का स्वास्थ्य बिगड़ने और उनकी मृत्यु होने की खबर प्राप्त हो रही हैं, हालाँकि अब सरकारी नीतियों में भी ड्यूटी के दौरान दिवंगत शिक्षकों को मुआवजा देने का प्रावधान किया गया है किंतु नियमों के अनुसार कई साथी इस दायरे के बाहर भी होंगे, ऐसे शिक्षक साथियों के लिए टीम पहल निश्चित रूप से सहायता हेतु आगे आएगी और अपने कोरोना वॉरियर शिक्षकों के पीड़ित परिवारों की यथासम्भव मदद करेगी। बताते चलें कि सड़क दुर्घटना से लेकर असामयिक मृत्यु का शिकार होने वाले बेसिक शिक्षकों के परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए बेसिक शिक्षकों ने 26 जनवरी को *टीम पहल* नामक ग्रुप बनाकर मदद करने की शुरुआत की थी, सड़क दुर्घटना अथवा गम्भीर बीमारी में शिक्षक की मृत्यु के बाद पीड़ित परिवार आर्थिक रूप से टूट जाता है, ऐसे में बेसिक शिक्षकों ने अपनी खुद की टीम बनाकर पीड़ित परिवारों की मदद का लक्ष्य निर्धारित किया जिसमें किसी शिक्षक साथी की मृत्यु होने पर उसके नॉमिनी के अकाउंट में बस 100₹ का सहयोग करना होता है। गूगल फार्म से रजिस्ट्रेशन करके कोई भी बेसिक शिक्षक इसका सदस्य बन सकता है और पूरे उत्तर प्रदेश से शिक्षकों ने इसमें अपना रजिस्ट्रेशन कराना शुरू किया है। जौनपुर जनपद में भी टीम पहल ब्लाक स्तर पर टीम बनाकर कार्य कर रही है और इसी क्रम में जनपद जौनपुर के निवासी शिक्षक स्व0 विजयेंद्र जी की पत्नी को भी आर्थिक सहायता की गई है। टीम से जुड़ी शिक्षिका हिना कौसर और श्वेता जायसवाल ने कहा कि टीम पहल हम शिक्षकों के लिए मुश्किल घड़ी में आशा की नई किरण बनकर सामने आई है जिसमें पूरे उत्तर प्रदेश से कोई भी शिक्षक साथी पीड़ित परिवार की सीधे मदद कर सकता है।



कैसे काम करती है टीम पहल

पूरे प्रदेश के बेसिक शिक्षकों को लिंक के माध्यम से टेलीग्राम ग्रुप पर जोड़ा जा रहा है। सदस्यता लेने हेतु एक गूगल फार्म भरवाया जाता है जिसमें शिक्षक और उसके नॉमिनी की डिटेल होती है। टीम पहल से जुड़े किसी शिक्षक साथी के साथ दुर्घटना होने की दशा में उसके नॉमिनी का अकाउंट नम्बर जारी करके मदद की अपील की जाती है और बाकी सदस्य उस अकाउंट में 100₹ की मदद करते हैं।

निःशुल्क व्यवस्था के तहत हो रहा कार्य

टीम पहल मंच सिर्फ बेसिक के शिक्षकों के पीड़ित परिवारों को आर्थिक मदद करने के लिए बनाया गया है और किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाता है। एकदम निःशुल्क व्यवस्था के तहत मदद करने वाले शिक्षक साथी द्वारा पीड़ित परिवार के खाते में पैसा क्रेडिट हो जाता है। टीम पहल की वेबसाइट पर सभी सहयोगी शिक्षकों की लिस्ट अपडेट कर दी जाती है जिसे प्रत्येक सदस्य अथवा व्यक्ति देख सकता है। समस्त कार्यवाही पूरी तरह से तकनीक पर आधारित एवं पारदर्शी है। इसी व्यवस्था के अंतर्गत टीम पहल ने अपने दिवंगत शिक्षक साथियों को अब तक लगभग दस लाख की मदद करके मिसाल कायम की है जिसकी सराहना समस्त शिक्षकों द्वारा की जा रही है। शाहगंज ब्लाक के शिक्षक सुजीत सोनकर ने आशा जतायी है कि आगामी समय में टीम पहल अपने शिक्षक साथियों की सहायता के लिए और भी मजबूत मंच बनकर उभरेगी और पीड़ित परिवार को मजबूत आर्थिक सहायता करने में समर्थ होगी।

जारी किया गया हेल्पलाइन नम्बर

टीम पहल जौनपुर द्वारा शिक्षक साथियों की सहायता एवं सुझाव हेतु 24×7 हेल्पलाइन नम्बर 8423102040 जारी किया गया है जिसके द्वारा टीम से जुड़ने या सहयोग करने में किसी तकनीकी समस्या/सुझाव का समाधान कोई भी बेसिक शिक्षक कभी भी प्राप्त कर सकता है।


from NayaSabera.com

Comments