ब्राह्मज्ञान से ही परिपक्व होता है ईश्वर पर विश्वास : सतगुरु सुदीक्षा | #NayaSaberaNetwork

ब्राह्मज्ञान से ही परिपक्व होता है ईश्वर पर विश्वास : सतगुरु सुदीक्षा | #NayaSaberaNetwork


नया सबेरा नेटवर्क
स्वस्थ रहकर समर्पित भाव से सेवा करना हर भक्त के लिए है जरूरी
वर्चुअल रूप में हुआ तीन दिवसीय 74वां निरंकारी समागम समारोह 
महाराज,जौनपुर। किसी काल्पनिक बात पर तब तक वि·ाास नहीं होता जब तक हम साक्षात वह चीज नहीं देखते। उसी तरह से प्रभु- परमात्मा ई·ार पर भी हमारा वि·ाास तभी परिपक्व हो सकता है जब ब्राहम ज्ञान द्वारा उसे जाना जाता है। ई·ार पर दृढ़ वि·ाास रखते हुए जब मनुष्य अपनी जीवन यात्रा भक्ति भाव से युक्त होकर व्यतीत करता है तो वह आनंद दायक बन जाती है।''यह जानकारी स्थानीय मीडिया सहायक उदय नारायण जायसवाल ने वर्चुअल रूप में आयोजित तीन दिवसीय 74 वें वार्षिक निरंकारी संत समागम समारोह में सतगुरु  माता सुदीक्षा महाराज के पावन संदेशों को बताते हुए कहा। संत समागम का सीधा प्रसारण मिशन की वेबसाइट तथा साधना टीवी चैनल द्वारा हो रहा है। इसका लाभ पूरे वि·ा में श्रद्धालु भक्तों एवं प्रभु प्रेमी सज्जनों द्वारा लिया जा रहा है। सतगुरु  माता ने प्रतिपादन किया कि एक तरफ वि·ाास है तो दूसरी तरफ अंधवि·ाास की बात भी सामने आती है। अंधवि·ाास से भ्रम भ्रांतियां उत्पन्न होती है। डर पैदा होता है और मन में अहंकार भी प्रवेश करता है। जिससे मन में बुरे ख्याल आते हैं और कलह - क्लेषों का सामना करना पड़ता है। ब्राह्मांड की हर एक वस्तु वि·ाास पर ही टिकी है पर वि·ाास ऐसा ना हो कि वास्तविक रूप में कुछ और हो और मन में हम कल्पना कोई दूसरी करले। आंख बंद करके अथवा असलियत से आंख चुराकर कुछ और करते हैं तो फिर हम उन अंधवि·ाासों की ओर बढ़ जाते हैं। किसी वस्तु की वास्तविकता और उसका उद्देश्य ना जानते हुए तर्कसंगत ना होते हुए भी उसे करते चले जाना ही अंधवि·ाास की जड़ है। जिससे नकारात्मक भाव मन पर हावी हो जाते हैं।     आसपास का वातावरण व्यक्ति अथवा किसी वस्तु से अपने आप को दूर करने का नाम भक्ति नहीं है भक्ति हमें जीवन की वास्तविकता से भागना नहीं सिखाती अपितु उसी में रहते हुए हर पल हर ·ाास में परमात्मा का एहसास करते हुए आनंदित रहने का नाम भक्ति है। भक्ति किसी नकल का नाम नहीं यह हर एक की व्यक्तिगत यात्रा है। हर दिन ई·ार के साथ जुड़े रहकर अपनी भक्ति को प्रबल करना है। इच्छाएं मन में होनी लाजिमी है पर उनकी पूर्ति न होने से उदास  नहीं होना चाहिए। अनासक्त भाव से अपना वि·ाास पक्का रखने में ही बेहतरी है। इसी से वास्तविक रूप में इंसान आनंद की अनुभूति प्राप्त कर सकता है। समागम में सेवादल रैली का आयेजन हुआ जिसमें देश एवं दूर देशों से आए हुए सेवादल के भाई बहनों ने भाग लिया।सेवादल रैली में विभिन्न खेल शारीरिक व्यायाम शारीरिक कर्तव्य फिजिकल फॉरमेंस माइम एक्ट के अतिरिक्त मिशन की सिखलाइयों पर आधारित सेवा की प्रेरणा देने वाले गीत एवं लघुनाटिकाये मर्यादित रूप में प्रस्तुत की गई। सेवा दल की रैली को संबोधित करते हुए सतगुरु  माता सुदीक्षा महाराज ने कहा कि तन मन को स्वस्थ रहकर समर्पित भाव से सेवा करना हर भक्त के लिए जरूरी है, भले वह सेवा दल की वर्दी पहन कर करता हो अथवा बिना वर्दी पहने। हर एक में परमात्मा को देखकर हम घर में समाज में मानवता के लिए मन में सेवा का भाव रखते हुए जो भी कार्य करते है यह एक सेवा का ही रूप है। सेवा  करते वक्त विवेक और चेतनता की भी निरंतर आवश्यकता होती है।

*समस्त जनपदवासियों को शारदीय नवरात्रि, दशहरा, धनतेरस, दीपावली एवं छठ पूजा की हार्दिक शुभकानाएं : ज्ञान प्रकाश सिंह, वरिष्ठ भाजपा नेता*
Ad


*Ad : जौनपुर टाईल्स एण्ड सेनेट्री | लाइन बाजार थाने के बगल में जौनपुर | सम्पर्क करें - प्रो. अनुज विक्रम सिंह, मो. 9670770770*
Ad

*हीरो की कोई भी मोटरसाइकिल व स्कूटर खरीदिये और पाइये एक निश्चित उपहार | आटो व्हील्स हीरो जहांगीराबाद | #NayaSaberaNetwork* https://www.nayasabera.com/2021/10/nayasaberanetwork_600.html --- *धनतेरस एवं दिवाली धमाका ऑफर घर ले आइए हीरो और अपनों की खुशियों को दीजिए रफ्तार | हीरो की कोई भी मोटरसाइकिल व स्कूटर खरीदिये और पाइये एक निश्चित उपहार | आटो व्हील्स हीरो जहांगीराबाद, जौनपुर, मो. 7290084876 अहमद, खां मण्डी, पॉलिटेक्निक चौराहा, जौनपुर, मो. 9076609344 | वेंकटेश्वर आटो मोबाइल विशेषरपुर, पचहटियाँ, जौनपुर मो. 7290046734*
Ad



from Naya Sabera | नया सबेरा - No.1 Hindi News Portal Of Jaunpur (U.P.) https://ift.tt/3I5A2Wc


from NayaSabera.com

Comments