छह घंटे तक थमीं रही सोशल मीडिया की दुनियां - फेससबुक व्हाट्सएप इंस्टाग्राम सभ बंद - फेसबुक के शेयरों और मालिक की अमीरी पायदान में भारी गिरावट!! | #NayaSaberaNetwork

छह घंटे तक थमीं रही सोशल मीडिया की दुनियां - फेससबुक व्हाट्सएप इंस्टाग्राम सभ बंद - फेसबुक के शेयरों और मालिक की अमीरी पायदान में भारी गिरावट!! | #NayaSaberaNetwork


नया सबेरा नेटवर्क
वह छह घंटे पूरी दुनिया के सोशल मीडिया यूज़र्स की परेशानी के !!! भारतीय मानवीय जीवनशैली में बदलाव और तात्कालिक स्वदेशी ऐप विकसित करने की ज़रूरत - एड किशन भावनानी
गोंदिया - सोशल मीडिया एप्स के वैश्विक यूज़र्स सहित भारत में जो छह घंटे सोशल मीडिया फेसबुक व्हाट्सएप इंस्टाग्राम इत्यादिसहित कुछ ऐप बंद हुई तो सभी यूज़र्स तात्कालिक भारी बेचैन हो उठे!!! क्योंकि सोशल मीडिया की दुनियां थम सी गई थी!! किसी को कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि वह क्या करें??...साथियों बात अगर हम भारत की करें तो फेसबुक व्हाट्सएप इंस्टाग्राम जो एक ही कंपनी के हैं इनके सबसे अधिक यूज़र्स भारत में हैं और अधिकतम हम देखें तो इनका उपयोग रात में अधिक लोग करते हैं क्योंकि दिन में सभी अपने अपने व्यवसाय- व्यापार व अन्य कार्य में व्यस्त होते हैं। हालांकि जिन का प्रोफेशन ही इन एप्स से जुड़ा हुआ है इनका उपयोग अपने वर्किंग आवर्स में दिन में ही करते हैं।...साथियों आज हम देखते हैं कि यह एप्स हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन कर रह गए हैं। हम सभी दिन-रात इन एप्स से ऐसे लगे रहते हैं कि हमें दूसरी बातों, कामों,व्यवस्थाका ध्यान ही नहीं रहता। सोमवार रात्रि में मात्र छह घंटों के लिए यह, फेसबुक, व्हाट्‌सएप और इंस्टाग्राम की सेवा एक साथ पूरे देश और दुनिया में ठप होने के बाद फेसबुक मालिक मार्क जुकरबर्ग और व्हाट्सएप्प ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा। सोशल मैसेजिंग साइट के ठप पड़ने के बाद माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लोगों ने अपने अनुभव शेयर करने शुरू कर दिये। वहीं, फेसबुक खोलने पर एक मैसेज आ रहा है - ‘सॉरी, कुछ गड़बड़ है, हम इस पर काम कर रहे हैं और हम जल्द से जल्द इसे ठीक कर लेंगे। मंगलवार सुबह जब चालू हुए तो प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में जिसतरह प्रतिक्रियाएं आई और लोगों ने अपनी झुंझलाहट दर्ज़ कराई उसे देखकर, मैं हैरान रह गया।...साथियों मुझे स्वयं भी इसका प्रेक्टिकल अनुभव हुआ जब रात्रि 9 बजे के बाद हमारे परिवार के सदस्य सब हाल में आकर बढ़िया आपस में बतियाने लगे जो एक लंबे अंतराल के बाद यह एक साथ बैठकर बतियाना हुआ!! स्वभाविक रूप से घर के बड़े बुजुर्ग हैरत में आए और जब उन्हें इनका कारण सोशल मीडिया बंद होना पता चला तो वे हैरान रह गए!!...साथियों बात अगर हम अपने जीवनशैली की करें तो आज हम सभ इलेक्ट्रॉनिक सोशल मीडिया की एप्स पर निर्भर हो गए हैं।परिवार, दोस्तों, हितेषीयों से मेल मुलाकात, बातचीत, उठना-बैठना बंद हो गया है, जिसकी झुनझुनाहट वह छह घंटोंसे महसूस हुई और नतीजा आपसी मेल मुलाकात का सकारात्मक अनुभव हुआ!!! इसलिए हमें अब अपनी जीवन शैली में परिवर्तन कर सोशल मीडिया से संतुलित दूरी बनाने की ओर अग्रसर होना होगा।...साथियों बात अगर हम इन छह घंटों में इन एप्स के बंद होने पर नुकसान की करें तो इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के अनुसार फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सऐप के छह घंटों के लिए ठप होने से फेसबुक के को-फाउंडर और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मार्क जकरबर्ग को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है। उनको सात अरब डॉलर (करीब 52 हजार करोड़ रुपये) का नुकसान हुआ है। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिर्फ कुछ ही घंटे की परेशानी की वजह से जकरबर्ग अमीरों की सूची में एक पायदान लुढ़ककर माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स से एक स्थान नीचे पहुंच गए हैं। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोमवार को इस घटना की वजह से फेसबुक के शेयर में करीब 5 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। बता दें कि सितंबर के मध्य से अबतक फेसबुक का शेयर करीब 15 प्रतिशत गिर चुका है। बिलिनेयर इंडेक्स के मुताबिक इस समस्या की वजह से जकरबर्ग का नेटवर्थ घटकर 120.9 अरब डॉलर रह गया है उल्लेखनीय है कि, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक के सीईओ ने कहा है कि फेसबुक, इंस्टाग्राम, वॉट्सऐप और मैसेंजर फिर से ऑनलाइन हो गए हैं,व्यवधान के लिए खेद। मुझे मालूम है जिन लोगों की आप केयर करते हैं, उनसे जुड़े रहने के लिए आपको हमारी सर्विसेज पर कितना भरोसा है।...साथियों बात अगर हम इन सोशल साइट के यूजर्स की करें तो, भारत में कम से कम 41करोड़ लोग फेसबुक इस्तेमाल करते हैं, जबकि 53 करोड़ से ज्यादा लोग व्हाट्सएप और करीब 21 करोड़ से ज्यादा लोग इंस्टाग्राम का इस्तेमाल करते हैं। इन तीनों ही प्लेटफॉर्म्स का स्वामित्व फेसबुक के पास है। तत्काल मैसेज भेजने या फोटो शेयर करने और सोशल नेटवर्किंग के मामले में भारत के मार्केट पर इन मैसेजिंग एप्स का कब्जा है।...साथियों बात अगर हम इन एप्स के यूजर्स की करें तो, एप्स यूजर्स के लिए सोमवार की रात बहुत मुश्किल से कटी।रात को नौ बजे करीब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस अचानक डाउन हो गए, जिसके बाद यूज़र्स को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इस दौरान न तो यूजर्स किसी को मैसेज कर पा रहे थे और न ही किसी का मैसेज हासिल कर पा रहे थे।...साथियों बात अगर हम इन एप्स के बंद होने के कारण ही करें तो इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के अनुसार इनकी वजह डीएनएस  और बीजीपी में फाल्ट प्रमुख रहा है। इंटरनेट कई नेटवर्क का एक नेटवर्क होता है।बीजीपी, एक मैकेनिज्म होता है, जो इन नेटवर्क को आपस में जोड़े रखने काकाम करता है। लेकिन अगर बीजीपी काम नहीं करेगा,तो इंटरनेटराउटर को पता नहीं लगेगा कि आखिर उसे क्या करना है। ऐसे में इंटरनेट काम करना बंद कर देगा। राउटर्स काफी बड़े होते हैं, जो अन्य राउटर को अपडेट करने के साथ नेटवर्क पैकेट को आखिरी सोर्स तक डिलीवर करने का काम करते हैं। अगर किसी मामले में फेसबुक की तरफ से नेटवर्क को नहीं बताया गया कि आखिर उसे क्या करना है, तो इस स्थिति में फेसबुक सर्विस बाधित हो सकती है। डीएनएस को हम इंटरनेट के बैकबोन की तरह समझ सकते हैं। दरअसल हम अपने कंप्यूटर में जब कोई वेबसाइट ओपन करते हैं तो डीएनएस हमारे ब्राउजर को ये बताता है कि किसी भी वेबसाइट की आईपी क्या है। हर वेबसाइट की आईपी होती है। ट्विटर या फेसबुक के केस में डीएनएस हमारे ब्राउजर को जानकारी देता है कि ट्विटर औरफेसबुक की आईपी क्या है,ऐसे में फेसबुक और ट्विटर का अगर रिकॉर्ड डीएनएस डेटाबेस से मिट जाता है तो हम और हमारा कंप्यूटर ये नहीं जान पाएंगे कि फेसबुक और ट्विटर क्या हैं और उन्हें ऐक्सेस भी नहीं कर पाएंगे।अतःअगर हम उपरोक्त पूरे विवरण का अध्ययन कर उसका  विश्लेषण करें तो हम पाएंगे कि सिर्फ छहघंटे तक सोशल मीडिया की दुनिया जिसमें फेसबुक व्हाट्सएप इंस्टाग्राम सभ बंद थे तो फेसबुक का शेयर बाज़ार 5 प्रतिशत तथा उसके मालिक का अमीरी पायदान में एक अंक गिरावट हुई इस प्रकार हमने देखे वह छह घंटे पूरी दुनिया के सोशल मीडिया यूजर्स की परेशानी के कारण बने। इसलिए भारतीय मानव जीवनशैली में बदलाव और तात्कालिक स्वदेशी ऐप्सविकसित करने की ज़रूरत आन पड़ी है।
संकलनकर्ता लेखक- कर विशेषज्ञ एडवोकेट किशन सनमुखदास भावनानी गोंदिया महाराष्ट्र


*समस्त जनपदवासियों को शारदीय नवरात्रि, दशहरा, धनतेरस, दीपावली एवं छठ पूजा की हार्दिक शुभकानाएं : ज्ञान प्रकाश सिंह, वरिष्ठ भाजपा नेता*

*Ad : जौनपुर टाईल्स एण्ड सेनेट्री | लाइन बाजार थाने के बगल में जौनपुर | सम्पर्क करें - प्रो. अनुज विक्रम सिंह, मो. 9670770770*
Ad


*एस.आर.एस. हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेन्टर स्पोर्ट्स सर्जरी डॉ. अभय प्रताप सिंह (हड्डी रोग विशेषज्ञ) आर्थोस्कोपिक एण्ड ज्वाइंट रिप्लेसमेंट ऑर्थोपेडिक सर्जन # फ्रैक्चर (नये एवं पुराने) # ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी # घुटने के लिगामेंट का बिना चीरा लगाए दूरबीन # पद्धति से आपरेशन # ऑर्थोस्कोपिक सर्जरी # पैथोलोजी लैब # आई.सी.यू.यूनिट मछलीशहर पड़ाव, ईदगाह के सामने, जौनपुर (उ.प्र.) सम्पर्क- 7355358194, Email : srshospital123@gmail.com*
Ad


from Naya Sabera | नया सबेरा - No.1 Hindi News Portal Of Jaunpur (U.P.) https://ift.tt/3DbvrhG


from NayaSabera.com

Comments