शाहजहां को मुमताज के मन नहीं तन से प्रेम था:डा.सरोज सिंह | #NayaSaberaNetwork

शाहजहां को मुमताज के मन नहीं तन से प्रेम था:डा.सरोज सिंह | #NayaSaberaNetwork


नया सबेरा नेटवर्क
मुमताज़ को 19 साल में 17 बच्चे
डॉं सुनील विक्रम सिंह के उपन्यास ताज़महल के आँसू का विमोचन
टीडी कॉलेज के बलरामपुर सभागार में हुआ आयोजन
जौनपुर। मुग़ल काल का स्वर्णयुग कहा जाने वाला शाहजहां का शासनकाल भले ही समृद्ध रहा हो लेकिन वह शासक मुमताज़ की रूह से नहीं, शरीर से प्रेम करता था। इसका सबसे बड़ा प्रमाण है मुमताज़ ने 19 साल में 17 बच्चे जने। इसी के चलते उसने दम तोड़ दिया। यह बात टीडी कॉलेज की पूर्व प्राचार्य, हिन्दी की विभागाध्यक्ष डॉ सरोज सिंह ने डॉ सुनील विक्रम सिंह के उपन्यास ताज़महल के आँसू के हवाले से कही। शनिवार की दोपहर टीडी कॉलेज के बलरामपुर सभागार में डॉ सुनील के उपन्यास ताज़महल के आँसू का विमोचन हुआ। इसमें कॉलेज के वर्मन प्राचार्य डॉ समर बहादुर सिंह, पूर्व प्राचार्य डॉ अरु ण कुमार सिंह, बीएचयू में मनोविज्ञान के प्रो . आर एन सिंह, विधि वेत्ता, साहित्यकार, शायर प्रो. पीसी वि·ाकर्मा और लेखक एवं इलाहाबाद विवि में हिन्दी के शिक्षक डॉ सुनील विक्रम सिंह, उनकी पत्नी व शिक्षक डॉ मधुलिका सिंह शामिल रहीं। डॉ सरोज सिंह इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में सम्बोधित कर रहीं थीं। उन्होंने कहाकि इस उपन्यास का कथानक मुगल शासक शाहजहां की पत्नी मुमताज़ के इर्दगिर्द घूमता है। कथानक में आधुनिकता का समावेश कर लेखक ने रोचकता को बढ़ा दिया है। वैसे भी उपन्यास लिखना सबसे कठिन होता है लेकिन इसे सुनील विक्रम ने कर दिखाया। उन्होंने टीडी कॉलेज में 18 साल अध्यापन के दौरान पांच कृतियाँ साहित्य जगत को दीं। इस उपन्यास का शीर्षक भी दो साल पूर्व सोच लिया था। इलाहाबाद की पुस्तक प्रदशर््ानी में यह कृति अच्छी बिक्री की श्रेणी में आ गई है। डॉ सरोज ने उपन्यास ताज़महल के आंसू के 47 वें अध्याय का जिक्र करते हुए कहाकि शाहजहां ने ताज़महल का तामीर कराया मुमताज़ की याद में। उसकी कब्रा पर पानी की बून्द टपकती रहती है जो मुमताज़ के आँसू को दशर््ााती है। लेखक ने जुटाकर जो तथ्य दिए हैं कि 19 साल में 17 बच्चे पैदा करने वाली मुमताज़ की मौत यह सिद्ध करती है कि शाहजहां को उसके मन से नहीं बल्कि तन से प्रेम था। इसे लेखक ने बड़े सलीके से उकेरा है। पुस्तक विमोचन कार्यक्रम दोपहर एक से अपरान्ह तीन बजे तक चला। सभी शिक्षाविदों ने उपन्यास का गहराई से किए गए अध्ययन के अनुभव को समारोह में साझा किया।

*शुद्ध तेल व सही माप की 100% गारंटी के साथ, पेट्रोल पंप वही व्यवस्थाएं नई. एक बार अवश्य पधारें. चौरसिया फिलिंग स्टेशन, जगदीशपुर जौनपुर. प्रोपराइटर अजय कुमार सिंह, मो. 9473628123, 7007257621*
Ad

*Ad : जौनपुर टाईल्स एण्ड सेनेट्री | लाइन बाजार थाने के बगल में जौनपुर | सम्पर्क करें - प्रो. अनुज विक्रम सिंह, मो. 9670770770*
Ad

*एस.आर.एस. हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेन्टर स्पोर्ट्स सर्जरी डॉ. अभय प्रताप सिंह (हड्डी रोग विशेषज्ञ) आर्थोस्कोपिक एण्ड ज्वाइंट रिप्लेसमेंट ऑर्थोपेडिक सर्जन # फ्रैक्चर (नये एवं पुराने) # ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी # घुटने के लिगामेंट का बिना चीरा लगाए दूरबीन # पद्धति से आपरेशन # ऑर्थोस्कोपिक सर्जरी # पैथोलोजी लैब # आई.सी.यू.यूनिट मछलीशहर पड़ाव, ईदगाह के सामने, जौनपुर (उ.प्र.) सम्पर्क- 7355358194, Email : srshospital123@gmail.com*
Ad


from Naya Sabera | नया सबेरा - No.1 Hindi News Portal Of Jaunpur (U.P.) https://ift.tt/3kFZHLr


from NayaSabera.com

Comments