कृष्ण-कन्हैया! | #NayaSaberaNetwork

कृष्ण-कन्हैया! | #NayaSaberaNetwork


नया सबेरा नेटवर्क

कृष्ण-कन्हैया, राधा नागर,
अब तो  झलक  दिखाओ।
सिसक रही है धरा तुम्हारी,
आकर     इसे      बचाओ।

उल्टा-सीधा  काम  हो रहा,
खून   की    नदी    बहाए।
जिसके  हाथ  में  लाठी  है,
वो  सबको  आँख  दिखाए।
बिखर रही मानवता जग की,
आकर      इसे     सजाओ।
सिसक रही है धरा तुम्हारी,
आकर     इसे      बचाओ।
कृष्ण- कन्हैया, राधा नागर,
अब  तो  झलक  दिखाओ।

नरभक्षी  वो  गिद्ध  के जैसे,
नोंच -   नोंच   के     खाए।
सृजन  के  सारे सपनों की,
मानों  वो   लाश   बिछाए।
सृजन अधूरा रहे न भू का,
इसको    तो    सुलझाओ।
सिसक रही है धरा तुम्हारी,
आकर     इसे      बचाओ।
कृष्ण- कन्हैया, राधा नागर,
अब  तो  झलक  दिखाओ।

रक्षा की जिम्मेदारी जिसकी,
दूर    से     देखे      तमाशा।
लुका -छिपी के उस खेल से,
हाथ     लगी   है    निराशा।
सूख  चुके  हैं  जिनके चेहरे,
अब    तो    उन्हें    हँसाओ।
सिसक रही है धरा तुम्हारी,
आकर     इसे      बचाओ।
कृष्ण- कन्हैया, राधा नागर,
अब  तो  झलक  दिखाओ।

रामकेश एम.यादव(कवि,साहित्यकार),मुंबई

*Ad : Admission Open - SESSION 2021-2022 : Nehru Balodyan Sr. Secondary School | Kanhaipur, Jaunpur | Contact: 9415234111, 9415349820, 94500889210*
Ad


*Ad : Admission Open - SESSION 2021-2022 : UMANATH SINGH HIGHER SECONDARY SCHOOL SHANKARGANJ (MAHARUPUR), FARIDPUR, MAHARUPUR, JAUNPUR - 222180 MO. 9415234208, 9839155647, 9648531617*
Ad

*Ad : जौनपुर टाईल्स एण्ड सेनेट्री | लाइन बाजार थाने के बगल में जौनपुर | सम्पर्क करें - प्रो. अनुज विक्रम सिंह, मो. 9670770770*
Ad



from Naya Sabera | नया सबेरा - No.1 Hindi News Portal Of Jaunpur (U.P.) https://ift.tt/2YqAzQ8


from NayaSabera.com

Comments