डिजिटल इंडिया 21वीं सदी में सशक्त होते भारत का नया जयघोष - भारत के सामर्थ्य, संकल्प, भविष्य के असीम संभावनाओं की चाबी | #NayaSaberaNetwork

डिजिटल इंडिया 21वीं सदी में सशक्त होते भारत का नया जयघोष - भारत के सामर्थ्य, संकल्प, भविष्य के असीम संभावनाओं की चाबी | #NayaSaberaNetwork


नया सबेरा नेटवर्क
कोरोना काल में डिजिटल कनेक्टिविटी सुविधा मानवीय जीवन में महत्वपूर्ण भागीदारी निभा रही है - एड किशन भावनानी
गोंदिया - भारत में अगर हम कुछ दशक पूर्व की बात करें तो वरिष्ठतम एवं वरिष्ठ नागरिकों के अनुभव ले तो हमें पोस्टकार्ड, लिफाफा, अंतरदेसी, टाइपिंगमशीन कोयले इंजन की रेलगाड़ी, साइकिल के अनुभव सहित अनेक यादें ताजा हो जाएगी और उन्होंने वर्तमान डिजिट लाइजेशन युग की कल्पना भी नहीं की होगी कि एक दिन ऐसा आएगा कि घंटों का काम मिनटों में और मिंटों का काम सेकंडों में हो जाएगा।...साथियों दशकों पूर्व की बात तो यह थी, परंतु अगर हम पिछले डेढ़ साल की बात अगर वर्तमान पीढ़ी से करें, तो इस करोनाकॉल अवधि में बिना डिजिटलाइजेशन के और बिना आधुनिक सुविधाओं में क्या हाल होता??? जिसकी कल्पना भी करके ह्रदय सिहर उठेगा कि, क्या हाल होता हमारा? साथियों...बात अगर हम भारत में डिजिट लाइजेशन की शुरुआत की करें तो भारत को डिजिटल रूप से सशक्त समाज और ज्ञान अर्थव्यवस्था में बदलने की दृष्टि से डिजिटल इंडिया पहल शुरू की गई थी। डिजिटल इंडिया अभियान को 1 जुलाई 2015 को पीएम द्वारा लॉन्चकिया गयाथा डिजिटल इंडिया की 1 जुलाई को छठिवीं वर्षगांठ पर एक बहुत ही संवादात्मक और सूचनात्मक सत्र हुआ, जिसमें पीएम ने देशभर के डिजिटल इंडिया के लाभार्थियों से बात की। यह हमारे लिए गर्व का क्षण है क्योंकि हमें पीएम से जो मार्गदर्शन और समर्थन मिला है, वह अद्वितीय है। कार्यक्रम का आयोजन वर्चुअली हुआ। इसका प्रसारण डिजिटल इंडिया के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मफेसबुक और यूट्यूब चैनल पर हुआ।...साथियों वैसे 1 जुलाई 2021 का दिन 3 तरह से महत्वपूर्ण है पहला डिजिटल इंडिया की 6वीं वर्षगांठ दूसरा,डॉक्टर्स डे और तीसरा, चार्टर्ड अकाउंटेंट्स डे, अगर तीनों को हम मिला दें तो हम कह सकते हैं कि 1 जुलाई इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी डे है...। साथियों बात अगर हम कोरोना काल में डिजिटलाइजेशन की भागीदारी की करें तो, कोरोना के इस काल में कई शहरों के स्कूल कॉलेज में इसी की मदद से वेरिफिकेशन किया जा रहा है। बिजली बिल, पानी बिल, इनकम टैक्स भरना काफी आसान और तेज डिजिटल इंडिया से हुआ है। गरीबों को मिलने वाले राशन की डिलीवरी को आसान हुआ है। एक ही राशन कार्ड पुर्र देश में मान्य है।करोना कॉल को देखते हुए, पीएम ने कहा कि शिक्षा का डिजिटल होना आज समय की मांग है। अब हमारी कोशिश है कि गांव में सस्ती और अच्छी इंटरनेट कनेक्टिविटी मिले। सस्ते मोबाइल और दूसरे माध्यम उपलब्ध हो ताकि गरीब से गरीब बच्चा भी अच्छी पढ़ाई कर पाएं। उन्होंने ई-नाम योजना के लाभार्थी के साथ भी बात की। उनके अनुसार ई-नाम पोर्टल इसलिए बनाया गया है ताकि किसान देश की सभी मंडियों में अपनी फसल का सौदा कर सके। इस पोर्टल पर किसान और व्यापारी बड़ी संख्या में जुड़ रहे हैं।...साथियों इस डिजिटलाइजेशन युग में हम देख रहे हैं कि हमारा काम एक सेकंड में हो जाता है। हमारा काम जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, कोई भी इस सर्टिफिकेट, कोई भी बिल पेमेंट करना,रिटर्न भरना, शिक्षा क्षेत्र के कई काम, किसानों को फायदा, वन नेशन वन कार्ड, गरीब को राशन डिलीवरी आसान होना, भ्रष्टाचार पर चोट, कोरोना काल में डिजिटलाइजेशन का बहुत फायदा, लकडाउन में सुविधा, डिजिटलाइजेशन से प्रमाण पत्र और दस्तावेज को सुरक्षित करना, सरकारी काम इत्यादि हर स्तर पर बहुत आसान हो गया है। साथियों... बात अगर हम भ्रष्टाचार पर चोट की करें तो डिजिटलाइजेशन में सबसे अधिक करारी चोटभ्रष्टाचार पर पड़ी है, क्योंकि आज हर काम ऑनलाइन हो गया है, हर लाभार्थी के बैंक खाते में पैसे क्लिक करते ही ट्रांसफर हो जाते हैं। पीएम ने भी कहा है कि, सबको अवसर, सबको सुविधा, सबकी भागीदारी. डिजिटल इंडिया यानि सरकारी तंत्र तक सबकी पहुंच। डिजिटल इंडिया याने पारदर्शी, भेदभाव रहित व्यवस्था और भ्रष्टाचार पर चोट है। डिजिटल इंडिया यानि समय, श्रम और धन की बचत। डिजिटल इंडिया यानि तेज़ी से लाभ, पूरा लाभ, डिजिटल इंडिया यानि मिनिमम गवर्नमेंट, मैक्सिम गवर्नेंस है। ई पोर्टल पर किसान और व्यापारी बड़ी संख्या में जुड़ रहे हैं।इससे पहले केंद्रीय सूचना और प्रौद्योगिकी ने कहा कि छह साल डिजिटल इंडिया के पूरे हो गए। गरीबों के बैंक खाते खोले गए। कल्याणकारी योजनाओं के पैसे सीधे गरीबों के बैंक खाते में डाले हैं।...साथियों बात अगर हम डिजिटलाइजेशन के सुदृढउपयोग की करें तो पीएम ने उज्जैन की फल का व्यापार करने वाली 41 वर्षीय नाज़मीन नाम की महिला से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बात की जिसे अब डिजिटल नाज़मीन  नाम से जाना जाता है, जो अपनी फ्रूट व्यापार की खरीदी बिक्री पूरी तरह से डिजिटल पेमेंट से खुद ऑनलाइन करती है। सभी व्यवहार वह डिजिटल माध्यम से ही करती है इसलिए उसका नाम ही बदल गया और डिजिटल नाजमीन नाम हो गया। इसी तरह पीएम ने देशभर के सात स्ट्रीट वेंडरों से बात की जिसमें एमपी की यह महिला और अन्य राज्यों के किसान सहित अन्य लोग शामिल थे। अतः उत्तर पूरे विवरण का अगर हम अध्ययन कर उसका विश्लेषण करें तोडिजिटल इंडिया 21वीं सदी में नया जयघोष है। भारत के सामर्थ्य, संकल्प,भविष्य के असीम संभावनाओं, की चाबी है। कोरोना काल में डिजिटल कनेक्टिविटी सुविधा मानवीय जीवन में महत्वपूर्ण भागीदारी निभा रही है। 
-संकलनकर्ता-कर विशेषज्ञ एडवोकेट किशन सनमुखदास भावनानी गोंदिया महाराष्ट्र

*AD : Prasad Group of Institutions | Jaunpur & Lucknow | ADMISSION OPEN 2021-22 | MBA, B.Tech, B.Pharm, D.Pharm, Polytechnic | B.Pharm, D.Pharm & Polytechnic Contact Us 7408120000, 9415315566 | B.Tech, MBA Contact Us 9721457570, 9628415566 | Punch-Hatia, Sadar, Jaunpur, Uttar Pradesh | www.pgi.edu.in*
Ad

*Ad : ◆ शुभलगन के खास मौके पर प्रत्येक 5700 सौ के खरीद पर स्पेशल ऑफर 1 चाँदी का सिक्का मुफ्त ◆ प्रत्येक 11000 हजार के खरीद पर 1 सोने का सिक्का मुफ्त ◆ रामबली सेठ आभूषण भण्डार (मड़ियाहूँ वाले) ◆ 75% (18Kt.) है तो 75% (18Kt.) का ही दाम लगेगा ◆ 91.6% (22Kt.) है तो (22Kt.) का ही दाम लगेगा ◆ वापसी में 0% कटौती ◆ राहुल सेठ 09721153037 ◆ जितना शुद्धता | उतना ही दाम ◆ विनोद सेठ अध्यक्ष- सर्राफा एसोसिएशन, मड़ियाहूँ पूर्व चेयरमैन प्रत्याशी- भारतीय जनता पार्टी, मड़ियाहूँ मो. 9451120840, 9918100728 ◆ पता : के. सन्स के ठीक सामने, कलेक्ट्री रोड, जौनपुर (उ.प्र.)*
Ad


*प्रवेश प्रारम्भ : मो० हसन पी.जी. कालेज, जौनपुर | स्व. नूरुद्दीन खाँ एडवोकेट गर्ल्स डिग्री कालेज, अफलेपुर मल्हनी बाजार, जौनपुर | सत्र 2021-22 में प्रवेश प्रारम्भ - सीमित सीटें (बीए, बीएससी, बीकाम एवं एमए, एमएससी, एमकाम) पूर्वांचल वि.वि. में संचालित सभी पाठ्यक्रम | न्यू कोर्स स्नातक स्तर पर - संगीत- तबला, सितार एवं बीबीए स्नातकोतर स्तर पर – बायोकमेस्ट्री, माइकोबाइलॉजी एवं कम्प्यूटर साइंस | शुल्क- अत्यन्त कम एवं दो किस्तों में जमा की जा सकती है| 1- भव्य प्रयोगशाला, 2- योग्य प्राध्यापक, 3- कीड़ा स्थल | सभी विषयों में ऑनलाइन/आफलाइन कक्षाएं 05 जुलाई 2021 से प्रारम्भ कर दी जायेगी. अधिक जानकारी के लिए निम्न नम्बर पर सम्पर्क करें (05452-268500) 9415234384, 9336771720, 7379960609*
Ad




from Naya Sabera | नया सबेरा - No.1 Hindi News Portal Of Jaunpur (U.P.) https://ift.tt/3AoEf3a


from NayaSabera.com

Comments