टीकाकरण के संबंध में जारी गाइडलाइंस के अनुपालन की सुनिश्चितता और ऑडिट कराना वर्तमान परिस्थितियों की मांग | #NayaSaberaNetwork

टीकाकरण के संबंध में जारी गाइडलाइंस के अनुपालन की सुनिश्चितता और ऑडिट कराना वर्तमान परिस्थितियों की मांग | #NayaSaberaNetwork


नया सबेरा नेटवर्क
दिसंबर 2021 तक 216 करोड़ डोज़ टीकाकरण का लक्ष्य - गाइडलाइंस अनुपालन और ऑडिट का रणनीतिक रोडमैप जरूरी - एड किशन भावनानी
गोंदिया - भारत में 16 जनवरी 2021 से टीकाकरण अभियान की शुरुआत चरणबद्ध तरीके से शुरू हुई और प्रथम चरण की शुरुआत फ्रंटलाइन वर्कर्स, कोरोनावरियर्स से हुई फिर द्वितीय चरण में 60 वर्ष के ऊपर, तृतीय चरण में 45-60 वर्ष और चौथे चरण में 18-45 वर्ष के नागरिकों का टीकाकरण का अभियान शुरू है और अभी डीजीसीआई ने 2-18 वर्ष के बच्चों के ट्रायल की अनुमति दी है। उपरोक्त चार चरणों में अभी तक 22.10 करोड़ लोगों को वैक्सीनेशन किया जा चुका है। जो भारत की कुल जनसंख्या का करीब 16.37 प्रतिशत लोगों को ही वैक्सीनेशन हुआ है। जबकि विकसित देशों की बात करें तो वहां करीब-करीब 90 प्रतिशत नागरिकों का वैक्सीनेशन हो चुका है और उन्होंने 2023 तक वैक्सीनेशन कंपनियों से अतिरिक्त स्टाक के लिए करारनामा किया हुआ है। यह जानकारी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर उपलब्ध है।... बात अगर हम भारत में टीकाकरण अभियान की करें तो संबंधित मंत्रालय शासन-प्रशासन और स्वयं प्रधानमंत्री भी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। दिनांक 4 जून 2021 को रात्रि 8.38 pm पर प्रधानमंत्री मंत्रालय द्वारा जारी जानकारी के अनुसार पीएम ने अपने वरिष्ठ मंत्रियों के साथ एक हाई लेवल मीटिंग की और वैक्सीनेशन ड्राइव की समीक्षा की और भारत सरकार द्वारा वैक्सीन निर्माताओं को वृहत उत्पादन के लिए वित्तीय सहायता और कच्चे माल की आपूर्ति सहायता की बात कही गई तथा पीएम ने महत्वपूर्ण बात वैक्सीनेशन वेस्टीज को रोकने के लिए स्टेप लेने के इंस्ट्रक्शंस दिए तथा हेल्थकेयर वर्कर,फ्रंटलाइन वर्कर्स, 45 प्लस 18-44 उम्र ग्रुप के वैक्सीनेशन की भी समीक्षा की... बात अगर हम भारत में टीकाकरण के संबंध में जारी गाइडलाइंस, प्रोटोकॉल के अनुसार अनुपालन की सुनिश्चितता और टीकाकरण के ऑडिट की करें तो चूंकि अभी केवल 16.37 प्रतिशत याने 22.10 करोड़ नागरिकों को ही टीकाकरण हुआ है। याने अभी 84 प्रतिशत लोगों का टीकाकरण बाकी है और अभी ही टीकाकरण में वेस्टीज के अनेकों मामले सामने आए हैं। दिनांक 4 जून 2021 को एक राज्य में टीको की खरीदी कर प्राइवेट अस्पतालों में डबल रेट में बेचने और प्राइवेट अस्पतालों द्वारा तीन गुणा रेट में नागरिकों को टीका लगाने की बात सामने आई और यह आदेश उस राज्य सरकार द्वारा तुरंत प्रभाव से वापस ले लिया गया है। इस तरह पक्ष और विपक्ष द्वारा भी समय समय पर वैक्सीन के टीकाकरण, सप्लाई, उत्पादन, इत्यादि प्रक्रियाओं का सीएजी से ऑडिट कराने की मांग उठाते रहे हैं। एक राज्य ने तो अपने यहां टीकाकरण से संबंधित गाइडलाइंस का अनुपालन और वेस्टेज का ऑडिट कराने का आदेश भी जारी कर दिया है, क्योंकि कुछ दिन पहले उस राज्य पर वैक्सीन बर्बादी के आरोप लगे थे और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने उस राज्य के हेल्थ मिनिस्टर को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि वैक्सीन की बर्बादी पर तुरंत अंकुश लगाया जाए। उन्होंने उन मीडिया रिपोर्ट्स की ओर इशारा किया था जिनमें कहा गया था कि उस राज्य के 8 जिलों में 35 कोविड टीकाकरण केंद्रों में कुल मिलाकर वैक्सीन की 500 से भी ज्यादा वायल्स कूड़ेदान सेबरामद की गई थीं और एक प्रसिद्ध टीवी चैनल पर भी दिनांक 3 जून 2021 को कुछ राज्यों में वैक्सीनेशन सेंटरों पर जाकर की गई ग्राउंड रिपोर्टिंग दिखाई गई और बताया गया कि किस तरह वैक्सीन की डोज बर्बाद हो रही है और वह रिपोर्ट रोंगटे खड़े करने वाली है। वैसे बता दें कि वैक्सीनेशन के अंतर्गत वायल में 10 लोगों की डोज होती है, लेकिन वैक्सीन निर्माता इसमें थोड़ी ज्यादा मात्रा में वैक्सीन डाल देते हैं। औसतन, एक वायल में 11 डोज होती हैं, क्योंकि बर्बादी का थोड़ा-बहुत मार्जिन रखा जाता है। केरल में वैक्सीन की एक-एक बूंद का इस्तेमाल किया जाता था और हर वायल से 10 की बजाय 11 लोगों को टीका लगाया जाता था। 4 घंटे की समय सीमा के अंदर यदि सिर्फ 4 या 5 लोगों को डोज लगाया जाता है तो बाकी की वैक्सीन बर्बाद हो जाती है। इसलिए माननीय प्रधानमंत्री जी ने केरल सरकार को इस वैक्सीनेशन के सदुपयोग की रणनीति की तारीफ भी की थी। अतः अब चूंकि बहुत बड़ी मात्रा में वैक्सीनेशन होगा और जिसके लिए अनेक वैक्सीन कंपनियों से करार किए जा रहे हैं प्रधानमंत्री महोदय की 3 जून 2021 को अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से भी बात हुई और जो बाइडेन सहित अमेरिकी प्रशासन, भारत सहित एशिया में वैक्सीन भेजने के लिए सकारात्मक रुख अपनाए हुए है और बहुत तीव्रता से भारत में वैक्सिन लगाना शुरू होगा। जिसके लिए रणनीतिक रोडमैप बनाने में वैक्सीनेशन का ऑडिट और प्रोटोकॉल का पालन करने की सुनिश्चितता अनिवार्य रूप से प्रक्रिया शामिल करना एक कारगर उपाय होगा। अतः अगर हम उपरोक्त पूरे विवरण का विश्लेषण करें तो हमें महसूस होगा भारतीयों की जिंदगियों का सुरक्षा कवच है टीका, इसलिए टीकाकरण के संबंध में जारी गाइडलाइंस के अनुपालन की सुनिश्चितता और ऑडिट कराना वर्तमान परिस्थितियों की मांग है, और दिसंबर 2021 तक 216 करोड़ डोज टीकाकरण का लक्ष्य को पूरा करने के लिए गाइडलाइंस अनुपालन और ऑडिट का रणनीतिक रोडमैप बनाना जरूरी है।
-संकलनकर्ता लेखक-कर विशेषज्ञ एडवोकेट किशन सनमुखदास भावनानी गोंदिया महाराष्ट्र

*Ad : ◆ शुभलगन के खास मौके पर प्रत्येक 5700 सौ के खरीद पर स्पेशल ऑफर 1 चाँदी का सिक्का मुफ्त ◆ प्रत्येक 11000 हजार के खरीद पर 1 सोने का सिक्का मुफ्त ◆ रामबली सेठ आभूषण भण्डार (मड़ियाहूँ वाले) ◆ 75% (18Kt.) है तो 75% (18Kt.) का ही दाम लगेगा ◆ 91.6% (22Kt.) है तो (22Kt.) का ही दाम लगेगा ◆ वापसी में 0% कटौती ◆ राहुल सेठ 09721153037 ◆ जितना शुद्धता | उतना ही दाम ◆ विनोद सेठ अध्यक्ष- सर्राफा एसोसिएशन, मड़ियाहूँ पूर्व चेयरमैन प्रत्याशी- भारतीय जनता पार्टी, मड़ियाहूँ मो. 9451120840, 9918100728 ◆ पता : के. सन्स के ठीक सामने, कलेक्ट्री रोड, जौनपुर (उ.प्र.)*
Ad

*Ad : जौनपुर टाईल्स एण्ड सेनेट्री | लाइन बाजार थाने के बगल में जौनपुर | सम्पर्क करें - प्रो. अनुज विक्रम सिंह, मो. 9670770770*
Ad


*Ad : ◆ सोने की खरीददारी पर शानदार ऑफर ◆ अब ख़रीदे सोना "जितना ग्राम सोना उतना ग्राम चांदी फ्री" ऑफर के साथ ◆ पूर्वांचल के सबसे प्रतिष्ठित ज्वेलरी शोरूम "गहना कोठी" से एवं पाए प्रत्येक 5000 तक की खरीद पर लकी ड्रॉ कूपन भी ◆ जिसमें आप जीत सकते हैं मारुति सुजुकी एर्टिगा ◆ मारुति सुजुकी स्विफ्ट एवं ढेर सारे उपहार ◆ तो देर किस बात की ◆ आज ही आएं और पाएं जबरदस्त ऑफर ◆ 1. हनुमान मंदिर के सामने, कोतवाली चौराहा, 9984991000, 9792991000, 9984361313 ◆ 2. सद्भावना पुल रोड नखास, ओलन्दगंज, 9838545608, 7355037762*
Ad



from NayaSabera.com

Comments