#JaunpurLive : डॉ० वीएस उपाध्याय ने दी कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारी

#JaunpurLive : डॉ० वीएस उपाध्याय ने दी कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारी


वैज्ञानिक दृष्टिकोण से ही हारेगा कोरोना  - डॉ निमिष 
तीसरे दिन वैज्ञानिक दृष्टिकोण एवं स्वास्थ्य संचार पर हुई चर्चा
जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग एवं आइक्यूएसी सेल के संयुक्त तत्वावधान में चल रही कार्यशाला के तीसरे दिन वैज्ञानिक दृष्टिकोण एवं समाचार व स्वास्थ्य संचार विषय पर वक्ताओं ने संबोधित किया।
तृतीय सत्र में साइंस फिल्म फेस्टिवल एवं पब्लिकेशन डिविजन, विज्ञान प्रसार भारत सरकार के अध्यक्ष एवं वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ निमिष कपूर ने वैज्ञानिक दृष्टिकोण एवं समाचार विषय पर अपनी बात रखी। कहा कि भारतीय संविधान के अनुच्छेद 51 ए एच में वर्णित है कि हर नागरिक का मौलिक कर्तव्य है कि वह मानवतावाद, वैज्ञानिक दृष्टिकोण तथा ज्ञानार्जन एवं सुधार की भावना का विकास करें। कोरोना महामारी के इस दौर में वैज्ञानिक दृष्टिकोण के बिना जीवन सहज नहीं हो पायेगा।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 में समाचार लेखन के लिए पत्रकारों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरों का आम जनमानस पर बहुत  प्रभाव पड़ता है। उन्होंने प्रगतिशील किसान पद्मश्री रामशरण वर्मा समेत अन्य लोगों पर पड़े अखबार के समाचारों के प्रभाव की विस्तार से चर्चा की। कहा कि एक खबर का शीर्षक लोगों के  जीवन को  बदल   सकता है।
कोविड और स्वास्थ्य संचार विषय पर आयोजित चतुर्थ सत्र में जनपद के चिकित्सक डॉ वीएस उपाध्याय ने कोरोना वायरस से जुड़ी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन लगवाएं। वैक्सीन से एंटीबॉडी विकसित हो रही है और कोरोनावायरस से बचाव हो रहा है। उन्होंने कहा कि अपनी प्रतिरोधक क्षमता को हम विकसित करेंगे को तमाम रोगों से बच सकेंगे। प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करने के लिए प्राणायाम के साथ ही साथ आयुर्वेदिक दवाओं को लेने की सलाह दी।  कहा कि चीनी, नमक और मैदे के स्थान पर गुड़, सेंधा नमक और मल्टीग्रेन आटे का प्रयोग करें।
अतिथियों का स्वागत कार्यक्रम संयोजक डॉ मनोज मिश्र  एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ सुनील कुमार ने किया। संचालन आयोजन सचिव डॉ दिग्विजय सिंह राठौर ने किया। कार्यक्रम में प्रो मानस पांडेय, प्रो विक्रम देव, डॉक्टर सुभाष सिंह, डॉक्टर एनके सिंह, डॉ अजीत कपूर, डॉक्टर कमर अब्बास, डॉ जाफरी सैयद, मोहम्मद मुस्तफा, प्रो लता प्रोफेसर प्रवीण कुमार, डॉ उदय भगत, डॉ मधु वर्मा, डॉ दयानंद उपाध्याय, डॉ मनोहर लाल, शशि कांत यादव,  डॉ अवध बिहारी सिंह, डॉ चंदन सिंह समेत 21 राज्यों से प्रतिभागी शामिल हुए।


from NayaSabera.com

Comments