#JaunpurLive : पंजाब में एक दिन का राजकीय शोक घोषित

#JaunpurLive : पंजाब में एक दिन का राजकीय शोक घोषित


करीब एक महीने तक कोरोना से जूझने के बाद शुक्रवार देर रात पूर्व ओलंपियन पद्मश्री मिल्खा सिंह (91) का पीजीआई चंडीगढ़ में निधन हो गया था। फ्लाइंग सिख के नाम से दुनिया भर मे मशहूर मिल्खा सिंह का पार्थिव शरीर अंतिम दर्शनों के लिए उनके सेक्टर-8 स्थित आवास पर रखा गया है। पंजाब सरकार की तरफ से स्वर्गीय मिल्खा सिंह का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। मिल्खा सिंह की याद में पंजाब में एक दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है।
सेक्टर-25 के श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। शाम करीब पांच बजे सेक्टर 8 स्थित निवास से मिल्खा सिंह की अंतिम यात्रा शुरू होगी। शनिवार को कई दिग्गजों ने मिल्खा सिंह के घर पहुंचकर उनके निधन पर शोक जताया और परिवार को सांत्वना दी।
पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल अपने परिवार के साथ मिल्खा सिंह के घर पहुंचे। उन्होंने कहा कि यह पूरे पंजाब और देश के लिए दुख की घड़ी है। बादल ने कहा कि वह यही कामना करते हैं कि देश की हर मां मिल्खा सिंह जैसे पुत्र को जन्म दे। पंजाब के राज्यपाल और चंडीगढ़ के प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने मिल्खा सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने लिखा है कि कोरोना वायरस से देश ने एक और महान इंसान को खो दिया है।
बदनौर ने अपने शोक संदेश में कहा है कि मिल्खा सिंह द्वारा खेल क्षेत्र में दिए गए योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। चंडीगढ़ के डीसी मनदीप सिंह बराड़ मिल्खा सिंह के घर पहुंचे।शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) के प्रधान सुखदेव सिंह ढींढसा मिल्खा सिंह को श्रद्धांजलि देने उनके निवास स्थल पर पहुंचे। 
वहीं दोपहर करीब 1:30 बजे केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू चंडीगढ़ पहुंचेंगे। इसके बाद पंजाब के राज्यपाल व चंडीगढ़ के प्रशासक वीपी सिंह बदनौर के साथ मिल्खा सिंह को श्रद्धांजलि देने उनके घर पहुंचेंगे। दोपहर 2:30 बजे पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी मिल्खा सिंह को श्रद्धांजलि देने उनके घर पहुंचेंगे।



from NayaSabera.com

Comments